क्रिप्टो करेंसी से पैसा कैसे कमाए?

खरीदें और रखें

खरीदें और रखें
अगर आप और भी अधिक जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं, तो आप एस्ट्रोटॉक के अनुभवी ज्योतिष से बात कर सकते हैं। वह आपको आपके सवालों के सही जवाब प्रदान करेंगे। साथ ही आप उनसे अपने जीवन में आ रही किसी भी परेशानी का समाधान प्राप्त कर सकते हैं। और उन समाधानों से आपके जीवन में आ रही, सारी परेशानियां दूर हो सकती हैं।

नया घर

अपने Play बैलेंस में पैसे जोड़ना

आपके पास चुनिंदा शॉपिंग स्टोर पर नकद देकर, इन-ऐप्लिकेशन खरीदारी करने या अपने Google Play बैलेंस में पैसे जोड़ने का विकल्प होता है. इसके लिए, शॉपिंग स्टोर पर आपसे अलग से शुल्क लिया जा सकता है.

Currently, you’ll only get this option if:

  • You have the latest Google Play app. Learn how to update your app.
  • You’re located in any of the खरीदें और रखें countries listed below:
Country Denominations
Japan ¥‎500, ¥‎1000, ¥3000, ¥‎5000, ¥‎10000, ¥‎20000, ¥‎50000
Indonesia 10,000 IDR, 25,000 IDR, 50,000 IDR, 100,000 IDR, 150,000 IDR, 300,000 IDR, 500,000 IDR
Malaysia 10 MYR, 20 MYR, 50 MYR, 100 MYR, 200 MYR
Mexico $25, $50, $100, $200, $300, $600

Buy Play Credit with cash

  1. Google Play ऐप्लिकेशन खोलें .
  2. सबसे ऊपर दाईं ओर, प्रोफ़ाइल आइकॉन पर टैप करें.
  3. इसके बाद, पैसे चुकाना और सदस्यताएंपैसे चुकाने खरीदें और रखें के तरीकेपैसे चुकाने का तरीका जोड़ेंGoogle Play क्रेडिट खरीदें पर टैप करें.
  4. स्क्रीन पर दिख रही रकम में से किसी एक को चुनें.
  5. जारी रखें पर टैप करें.
  6. दिखाई जा रही दुकानों में से किसी एक को चुनें.
    • अगर आप पहली बार Play क्रेडिट खरीद रहे हैं, तो अपना नाम और पिन कोड जोड़ें.
  7. पैसे चुकाने का कोड पाएं पर टैप करें.
  8. जिस दुकान को आपने चुना है वहां जाएं और बताए गए निर्देशों का पालन करें.
देश शॉपिंग स्टोर
इंडोनेशिया Alfamart, Alfamidi, Dan+Dan, Indomaret, Lawson
जापान Daily Yamazaki, Family Mart, SeicoMart
मलेशिया 7-Eleven
मेक्सिको Oxxo

नकद देकर इन-ऐप्लिकेशन खरीदारी करना

  1. ऐप्लिकेशन में मौजूद वह आइटम ढूंढें जो नकद देकर खरीदना है.
  2. खरीदारी की प्रक्रिया शुरू करें.
  3. पर पैसे चुकाएंकोई स्टोर चुनें पर टैप करें.
    • अगर इन-ऐप्लिकेशन खरीदारी के लिए शॉपिंग स्टोर में जाकर पहली बार पैसे चुकाए जा रहे हों, तो अपना नाम और पिन कोड डालें.
  4. पैसे चुकाने का कोड पाएं पर टैप करें.
  5. शॉपिंग स्टोर में जाकर, बताए गए निर्देशों का पालन करें.

सलाह: खरीदारी पूरी होने में और लेन-देन पूरा होने की जानकारी वाला ईमेल मिलने में पांच मिनट लग सकते हैं.

नया घर खरीदने समय क्यों रखे वास्तु शास्त्र का ध्यान

  • आपको बता दें कि ज्योतिष खरीदें और रखें शास्त्र में वास्तु का काफी महत्व होता है। क्योंकि वास्तु दोष के कारण ही व्यक्ति के जीवन में कई परेशानियां आती हैं।
  • अगर किसी घर में वास्तु दोष होता है, तो व्यक्ति के जीवन में कई तरह की परेशानी आती है।
  • वहीं अगर आप नया घर खरीदने के बारे में विचार कर रहे हैं, तो आपको वास्तु दोष का भी ध्यान रखना चाहिए।
  • वास्तु दोष के कारण व्यक्ति के कैरियर, सेहत, पारिवारिक संबंध पर गहरा प्रभाव पड़ता है। इसीलिए किसी नया घर या फ्लैट खरीदते समय वास्तु दोष का विशेष ध्यान रखना चाहिए।
  • अगर आप भी नया घर खरीदने के बारे में सोच रहे हैं, तो आपको उसके मुख्य दरवाजे का विशेष ध्यान रखना चाहिए।
  • आपको बता दें कि घर का मुख्य द्वार उत्तर या उत्तर पूर्वी दिशा में होना चाहिए। क्योंकि यह दिशा काफी शुभ मानी जाती है।
  • इसी के साथ घर के चारों तरफ खुली जगह भी मौजूद होनी चाहिए।
  • वह इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए कि आपके घर या फ्लैट के मुख्य दरवाजे के ठीक सामने कोई लिफ्ट या पेड़ न हो।
  • अगर आपके घर या फ्लैट के मुख्य द्वार के सामने लिफ्ट या पेड़ मौजूद है, तो यह वास्तु दोष उत्पन्न करता है।

नया घर खरीदते समय सूरज की रोशनी का रखें ध्यान

  • आपको बता दें कि वास्तु शास्त्र में प्रकृति का काफी महत्व होता है।
  • इसी कारण आपको एक ऐसा घर खरीदना चाहिए। जिसमें सूरज की पर्याप्त रोशनी आए। ताकि घर में सकारात्मक ऊर्जा बनी रहे।
  • सुबह की धूप घर में सकारात्मक ऊर्जा लेकर आती है। वहीं दोपहर की धूप स्वास्थ्य के लिए बिल्कुल भी सही नहीं होती है।
  • अगर आप कोई नया घर खरीदने के बारे में विचार कर रहे हैं, तो आपको एक नजर खिड़कियों पर भी डालनी चाहिए।
  • यदि कोई खिड़की दक्षिण या पश्चिम दिशा में मौजूद है, तो यह वास्तु दोष उत्पन्न करती है। आपको ऐसा घर लेने से खरीदें और रखें बचना चाहिए।
  • घर की दीवार पर खिड़कियां दक्षिण या दक्षिण पश्चिमी दिशा में छोटे आकार में होनी चाहिए।
  • वास्तु शास्त्र के अनुसार आपके घर की दीवार पड़ोसी के घर की दीवार से जुड़ी हुई न हो। क्योंकि इसके कारण मिश्रित ऊर्जा पैदा होती है।
  • आपको बता दें कि उत्तर और पूर्व दिशा में सकारात्मकता का प्रभाव होता है।
  • आपको एक ऐसा घर खरीदना चाहिए। जहां उत्तर और पूर्व दिशा की तरफ ज्यादा खुली जगह मौजूद हो।
  • घर के चारों तरफ खुली जगह घर के लिए काफी शुभ मानी जाती है।

उत्तर पूर्व दिशा में रसोईघर का ना होना

  • आपको ऐसा फ्लैट या घर खरीदने से बचना चाहिए। जहां उत्तर पूर्व दिशा में रसोई घर बना हो। इसके कारण वास्तु दोष की समस्या उत्पन्न हो सकती हैं।
  • उत्तर पूर्व दिशा सूरज की किरणों का स्वागत करती हैं। इसीलिए इस दिशा में बेडरूम आदि मौजूद होना चाहिए।
  • रसोईघर के लिए दक्षिण पूर्व दिशा काफी शुभ मानी जाती है।
  • आपको बता दें कि किसी बहुमंजिला इमारत में छत के उत्तर-पूर्वी कोने में पानी की टंकी रखना शुभ होता है।
  • सुबह की सूरज की किरणें पराबैगनी किरणों से भरपूर होती है, जो पानी को शुद्ध करने में मदद करती है।
  • घर की छत पर खरीदें और रखें प्लास्टिक की टंकी नहीं रखनी चाहिए।
  • अगर आपके घर में प्लास्टिक की टंकी है, तो वह गहरे रंग की होनी चाहिए।

Dhanteras 2022: क्यों खरीदे जाते है धनतेरस के दिन बर्तन, क्या खरीदें और क्या ना खरीदें, खरीददारी के वक्त रखें ये ध्यान

दीपोत्सव की शुरूआत धनतेरस से होती है. 22 अक्टूबर को धनतेरस है. पंचांग के अनुसार, 22 अक्टूबर को त्रयोदशी तिथि दिन में 4:33 के बाद शुरू होगी. जब त्रयोदशी शुरू होगी तब प्रदोष काल भी आरंभ होगा. धनतेरस के दिन भगवान धनवंतरि, माता लक्ष्मी और कुबेर महाराज खरीदें और रखें की पूजा की जाती है. धनतेरस के दिन अगर चांदी की कटोरी खरीद कर उसमें पानी या खीर ग्रहण करते हैं तो खरीदें और रखें रोगों से मुक्ति मिलती है. dhanteras 2022, dhanteras shubh muhurat, religious importance of dhanteras

सागर। दीपावली का त्योहार धनतेरस से शुरू होता है और भाईदूज तक चलता है. 5 दिन के त्योहार में 5 दिनों का अलग अलग महत्व है. दीपावली के पहले दिन को धनतेरस कहा जाता है. इस दिन धन्वंतरी जयंती भी होती है. धनतेरस का त्योहार धन संपदा और रोगमुक्ति के लिए महत्वपूर्ण माना गया है. धनतेरस के दिन खरीदारी का भी विशेष महत्व होता है. आमतौर पर धनतेरस के दिन लोग बर्तन और दूसरी चीजें खरीदते हैं, लेकिन शास्त्रों के अनुसार दीपावली के दिन सोने और चांदी क्यों खरीदने का विशेष महत्व होता है. जबकि आजकल लोग प्लास्टिक के बर्तन भी खरीदते हैं, लेकिन विद्वानों का मानना है कि धनतेरस के दिन स्टील और प्लास्टिक के बर्तन नहीं खरीदना चाहिए. अगर सोना और चांदी नहीं खरीद सकते हैं, तो तांबे का बर्तन खरीदना चाहिए. धनतेरस के दिन अगर चांदी की कटोरी खरीद कर उसमें पानी या खीर ग्रहण करते हैं तो रोगों से मुक्ति मिलती है.

Dhanteras 2022: क्यों खरीदे जाते है धनतेरस के दिन बर्तन, क्या खरीदें और क्या ना खरीदें, खरीददारी के वक्त रखें ये ध्यान

दीपोत्सव की शुरूआत धनतेरस से होती है. 22 अक्टूबर को धनतेरस है. पंचांग के अनुसार, 22 अक्टूबर को त्रयोदशी तिथि दिन में 4:33 के बाद शुरू होगी. जब त्रयोदशी शुरू होगी तब प्रदोष काल भी आरंभ होगा. धनतेरस के दिन भगवान धनवंतरि, माता लक्ष्मी और कुबेर महाराज की पूजा की जाती है. धनतेरस के दिन अगर चांदी की कटोरी खरीद कर उसमें पानी या खीर ग्रहण करते हैं तो रोगों से मुक्ति मिलती है. dhanteras 2022, dhanteras shubh muhurat, religious importance of dhanteras

सागर। दीपावली का त्योहार धनतेरस से शुरू होता है और भाईदूज तक चलता है. 5 दिन के त्योहार में 5 दिनों का अलग अलग महत्व है. दीपावली के पहले दिन को धनतेरस कहा जाता है. इस दिन धन्वंतरी जयंती भी होती है. धनतेरस का त्योहार धन संपदा और रोगमुक्ति के लिए महत्वपूर्ण माना गया है. धनतेरस के दिन खरीदारी का भी विशेष महत्व होता है. आमतौर पर धनतेरस के दिन लोग बर्तन और दूसरी चीजें खरीदते हैं, लेकिन शास्त्रों के अनुसार दीपावली के दिन सोने और चांदी क्यों खरीदने का विशेष महत्व होता है. जबकि आजकल लोग प्लास्टिक के बर्तन भी खरीदते हैं, लेकिन विद्वानों का मानना है कि धनतेरस के दिन स्टील और प्लास्टिक के बर्तन नहीं खरीदना चाहिए. अगर सोना और चांदी नहीं खरीद सकते हैं, तो तांबे का बर्तन खरीदना चाहिए. धनतेरस के दिन अगर चांदी की कटोरी खरीद कर उसमें पानी या खीर ग्रहण करते हैं तो रोगों से मुक्ति मिलती है.

नया घर खरीदने समय क्यों रखे वास्तु शास्त्र का ध्यान

  • आपको बता दें कि ज्योतिष शास्त्र में वास्तु का काफी महत्व होता है। क्योंकि वास्तु दोष के कारण ही व्यक्ति के जीवन में कई परेशानियां आती हैं।
  • अगर किसी घर में वास्तु दोष होता है, तो व्यक्ति के जीवन में कई तरह की परेशानी आती है।
  • वहीं अगर आप नया घर खरीदने के बारे में विचार कर रहे हैं, तो आपको वास्तु दोष का भी ध्यान रखना चाहिए।
  • वास्तु दोष के कारण व्यक्ति के कैरियर, सेहत, पारिवारिक संबंध पर गहरा प्रभाव पड़ता है। इसीलिए किसी नया घर या फ्लैट खरीदते समय वास्तु दोष का विशेष ध्यान रखना चाहिए।
  • अगर आप भी नया घर खरीदने के बारे में सोच रहे हैं, तो आपको उसके मुख्य दरवाजे का विशेष ध्यान रखना चाहिए।
  • आपको बता दें कि घर का मुख्य द्वार उत्तर या उत्तर पूर्वी दिशा में होना चाहिए। क्योंकि यह दिशा काफी शुभ मानी जाती है।
  • इसी के साथ घर के चारों तरफ खुली जगह भी मौजूद होनी चाहिए।
  • वह इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए कि आपके घर या फ्लैट के मुख्य दरवाजे के ठीक सामने कोई लिफ्ट या पेड़ न हो।
  • अगर आपके घर या फ्लैट के मुख्य द्वार के सामने लिफ्ट या पेड़ मौजूद है, तो यह वास्तु दोष उत्पन्न करता है।

नया घर खरीदते समय सूरज की रोशनी का रखें ध्यान

  • आपको बता दें कि वास्तु शास्त्र में प्रकृति का काफी महत्व होता है।
  • इसी कारण आपको एक ऐसा घर खरीदना चाहिए। जिसमें सूरज की पर्याप्त रोशनी आए। ताकि घर में सकारात्मक ऊर्जा बनी रहे।
  • सुबह की धूप घर में सकारात्मक ऊर्जा लेकर आती है। वहीं दोपहर की धूप स्वास्थ्य के लिए बिल्कुल भी सही नहीं होती है।
  • अगर खरीदें और रखें आप कोई नया घर खरीदने के बारे में विचार कर रहे हैं, तो आपको एक नजर खिड़कियों पर भी डालनी चाहिए।
  • यदि कोई खिड़की दक्षिण या पश्चिम दिशा में मौजूद है, तो यह वास्तु दोष उत्पन्न करती है। आपको ऐसा घर लेने से बचना चाहिए।
  • घर की दीवार पर खिड़कियां दक्षिण या दक्षिण पश्चिमी दिशा में छोटे आकार में होनी चाहिए।
  • वास्तु शास्त्र के अनुसार आपके घर की दीवार पड़ोसी के घर की दीवार से जुड़ी हुई न हो। क्योंकि इसके कारण मिश्रित ऊर्जा पैदा होती है।
  • आपको बता दें कि उत्तर और पूर्व दिशा में सकारात्मकता का प्रभाव होता है।
  • आपको एक ऐसा घर खरीदना चाहिए। जहां उत्तर और पूर्व दिशा की तरफ ज्यादा खुली जगह मौजूद हो।
  • घर के चारों तरफ खुली जगह घर के लिए काफी शुभ मानी जाती है।

उत्तर खरीदें और रखें पूर्व दिशा में रसोईघर का ना होना

  • आपको ऐसा फ्लैट या घर खरीदने से बचना चाहिए। जहां उत्तर पूर्व दिशा में रसोई घर बना हो। इसके कारण वास्तु दोष की समस्या उत्पन्न हो सकती हैं।
  • उत्तर पूर्व दिशा सूरज की किरणों का स्वागत करती हैं। इसीलिए इस दिशा में बेडरूम आदि मौजूद होना चाहिए।
  • रसोईघर के लिए दक्षिण पूर्व दिशा काफी शुभ मानी जाती है।
  • आपको बता दें कि किसी बहुमंजिला इमारत में छत के उत्तर-पूर्वी कोने में पानी की टंकी रखना शुभ होता है।
  • सुबह की सूरज की किरणें पराबैगनी किरणों से भरपूर होती है, जो पानी को शुद्ध करने में मदद करती है।
  • घर की छत पर प्लास्टिक की टंकी नहीं रखनी चाहिए।
  • अगर आपके घर में प्लास्टिक की टंकी है, तो वह गहरे रंग की होनी चाहिए।

शौचालय और स्नानघर की दिशा

  • शौचालय और स्नानघर को दक्षिण पश्चिम कोने में या दक्षिण दिशा में होना चाहिए।
  • यदि शौचालय उत्तर पूर्व दिशा में मौजूद है, तो इसके कारण घर में नकारात्मक ऊर्जा प्रवेश करती है, जो घर के लिए शुभ नही होती।
  • नकारात्मक ऊर्जा घर के साथ – साथ परिवार के सदस्यों के लिए भी सही नहीं होती।
  • आपको बता दें कि वास्तु के मुताबिक बच्चों का कमरा उत्तर पूर्व या उत्तर पश्चिम दिशा में मौजूद होना चाहिए।
  • वही बच्चों के कमरे की खिड़की उत्तर दीवार की तरफ होनी चाहिए। इससे कमरे में पर्याप्त प्राकृतिक रोशनी आती है।
  • बच्चों का कमरा उत्तर पूर्वी यह उत्तर पश्चिम दिशा में होने से बच्चों का ध्यान पढ़ाई में अधिक लगता है।
  • साथ ही बच्चों का ध्यान भी एकाग्र रहता है। इसी के साथ बच्चे तनाव से काफी खरीदें और रखें दूर रहते हैं।
  • जब भी आप नया घर या कोई फ्लैट खरीदने के बारे में विचार करें, तो आपको वास्तु शास्त्र के इन नियमों का ध्यान जरूर करना चाहिए।
  • वास्तु शास्त्र के नियमों की सहायता से आप वास्तु दोष के नकारात्मक प्रभावों से बच सकते हैं।
रेटिंग: 4.43
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 89
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *