क्रिप्टो करेंसी से पैसा कैसे कमाए?

भारत में ETF

भारत में ETF
Edited By: Alok Kumar @alocksone
Published on: December 02, 2022 12:32 भारत में ETF IST

bharat 22 etf News in Hindi

भारत-22 ETF की अतिरिक्त बिक्री होगी 14 फरवरी को, सरकार का 3500 करोड़ रुपए जुटाने का लक्ष्य

भारत-22 ETF की अतिरिक्त बिक्री होगी 14 फरवरी को, सरकार का 3500 करोड़ रुपए जुटाने का लक्ष्य

यह बिक्री पेशकश मात्र एक दिन भारत में ETF के लिए खुलेगी। उसी दिन संस्थागत और खुदरा निवेशक इसमें भाग ले सकते हैं।

भारत-22 ईटीएफ को मिला दोगुना अभिदान, सरकार को मिली 15 हजार करोड़ रुपए से अधिक की बोली

भारत-22 ईटीएफ को मिला दोगुना अभिदान, सरकार को मिली 15 हजार करोड़ रुपए से भारत में ETF अधिक की बोली

भारत-22 एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (ईटीएफ) के लिए सरकार को निवेशकों से 15,436 करोड़ रुपए की बोली मिली है। यह जुटाई जाने वाली राशि के भारत में ETF दोगुना से भी अधिक है।

लक्ष्‍य से ज्‍यादा मिली भारत-22 ईटीएफ को बोली, अब तक 12,500 करोड़ रुपए के लिए मिले आवेदन

लक्ष्‍य से ज्‍यादा मिली भारत-22 ईटीएफ को बोली, अब तक 12,500 करोड़ रुपए के लिए मिले आवेदन

भारत-22 ईटीएफ की दूसरी किस्त को निर्गम के अंतिम दिन पेशकश से अधिक अभिदान मिला और अब तक इसे 12,500 करोड़ रुपए की बोली मिली है। सरकार की इस ईटीएफ से 6000 करोड़ रुपए जुटाने का लक्ष्य है। इसमें ज्यादा बोली आने पर 2400 करोड़ रुपए और जुटाने का विकल्प है।

भारत-22 ईटीएफ का दूसरा निर्गम खुदरा निवेशकों के लिए खुलेगा 20 जून से, सरकार जुटाएगी 8400 करोड़ रुपए

भारत-22 ईटीएफ का दूसरा निर्गम खुदरा निवेशकों के लिए खुलेगा 20 जून से, सरकार जुटाएगी 8400 करोड़ रुपए

वित्त मंत्रालय भारत-22 ईटीएफ (एक्सचेंज ट्रेडेड फंड) की दूसरी खेप 19 जून से पेश करेगी। यह सरकार को बाजारों से 8,400 करोड़ रुपए की पूंजी जुटाने में मदद करेगी।

सरकार ने NLC के 39 करोड़ रुपए मूल्‍य के शेयर भारत-22 ETF को किए ट्रांसफर, हिस्‍सेदारी घटकर रह गई 84%

सरकार ने NLC के 39 करोड़ रुपए मूल्‍य के शेयर भारत-22 ETF को किए ट्रांसफर, हिस्‍सेदारी घटकर रह गई 84%

केंद्र सरकार ने एनएलसी (NLC) इंडिया के 39 करोड़ रुपए मूल्‍य के शेयर भारत-22 एक्‍सचेंज ट्रेडेड फंड (ईटीएफ) को ट्रांसफर किए हैं।

सरकार ने भारत-22 ETF से 14,500 करोड़ रुपए जुटाए, इस फंड में 22 कंपनियों के शेयर हैं शामिल

सरकार ने भारत-22 ETF से 14,500 करोड़ रुपए जुटाए, इस फंड में 22 कंपनियों के शेयर हैं शामिल

सरकार ने भारत-22 एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (ETF) के तहत पहले दौर में 14,500 करोड़ रुपए जुटाए हैं। इस फंड में 22 कंपनियों के शेयर शामिल हैं।

Bharat Bond ETF में फिर आया निवेश करने का सुनहरा मौका, जानें आप कैसे लगा सकते हैं पैसा

इस एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (ETF) के जरिए केवल सरकारी कंपनियों के AAA-रेटेड बॉन्ड में निवेश किया जाता है।

Alok Kumar

Edited By: Alok Kumar @alocksone
Published on: December 02, 2022 12:32 IST

भारत बॉन्ड ईटीएफ- India TV Hindi

Photo:FILE भारत बॉन्ड ईटीएफ

सरकार की Bharat Bond ETF की चौथी किस्त आज से निवेश के लिए खुल गई है। इसमें आप 2 दिसंबर यानी आज से लेकर 8 दिसंबर तक निवेश कर सकते हैं। आपको बता दें कि पिछले तीन किस्त में निवेशकों को भारत बॉन्ड ईटीएफ से अच्छा रिटर्न मिला है। इस एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (ETF) के जरिए केवल सरकारी कंपनियों के AAA-रेटेड बॉन्ड में निवेश किया जाता है। इस बार इस बॉन्ड के जरिये केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रमों (सीपीएसई) की करीब 1000 करोड़ रुपये का कोष जुटाने भारत में ETF की योजना है। आपको बता दें कि साल 2019 में पहला ईटीएफ बॉन्ड लॉन्च किया गया था।

किस तरह से कर सकते हैं निवेश

भारत बॉन्ड ईटीएफ में निवेश करने के लिए आपके पास डीमैट खाता होना जरूरी है। आम निवेशक इस भारत में ETF बॉन्ड में कम से कम 1,001 रुपये से निवेश की शुरुआत कर सकते भारत में ETF भारत में ETF हैं। वहीं, संस्थागत निवेशक को कम से कम 2,00,001 रुपये का निवेश इसमें करना होगा। आप यह निवेशक अपने ब्रोकर के जरिये या एडलवीज के जरिये भी कर सकते हैं। भारत बॉन्ड ईटीएफ की इस सीरीज में आपका किया गया निवेश अप्रैल 2033 में मैच्योर हो जाएगा।

निवेशकों को इतना रिटर्न मिला

पिछले एक साल में इन ईटीएफ का रिटर्न 2 से 4 फीसदी (30 नवंबर तक) के बीच रहा है। फंड मैनेजर्स ने कहा है कि इस साल डेट स्कीमों के रिटर्न पर RBI के लगातार इंटरेस्ट रेट बढ़ाने का असर पड़ा है। भारत में ETF सरकार ने पिछले साल दिसंबर में 1,000 करोड़ रुपये का तीसरा चरण पेश किया था। इसमें 6,200 करोड़ रुपये की बोलियों के साथ 6.2 गुना अधिक अभिदान मिला था।

Bharat Bond ETF: दिसंबर में जबरदस्त कमाई का मिलेगा मौका, शुरू होगा भारत बॉन्ड ईटीएफ का तीसरा चरण

Bharat Bond ETF: भारत बॉन्ड ईटीएफ का तीसरा चरण आगामी तीन दिसंबर को खुलेगा और सप्ताह भर तक खुला रहेगा। इसका सब्सक्रिप्शन नौ दिसंबर को बंद होगा। भारत बॉन्ड के तीसरे चरण के जरिए सरकार की योजना 10,000 करोड़ रुपये जुटाने की है।

ईटीएफ (प्रतीकात्मक तस्वीर)

भारत बॉन्ड ईटीएफ का तीसरा चरण आगामी तीन दिसंबर को खुलेगा और सप्ताह भर तक खुला रहेगा। इसका सब्सक्रिप्शन नौ दिसंबर को बंद होगा। भारत बॉन्ड के तीसरे चरण के जरिए सरकार की योजना 10,000 करोड़ रुपये जुटाने की है। गौरतलब है कि यह देश का पहला कॉरपोरेट बांड एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (ईटीएफ) है। भारत बॉन्ड ईटीएफ में कम से कम निवेशक 1,000 रुपये निवेश कर सकते हैं। इसके बाद 1,000 रुपये के मल्टीपल में निवेश का विकल्प मौजूद होता है।

पहली और दूसरी किस्त से जुटाए इतने करोड़
भारत बॉन्ड ईटीएफ की पहली किस्त की पेशकश दिसंबर 2019 में की गई थी इसके जरिए सरकार ने लगभग 12,400 करोड़ रुपये की राशि जुटाई थी। दूसरी किस्त को जुलाई 2020 में लॉन्च किया गया था। यह तीन गुना से ज्यादा सब्सक्राइब हुआ था। सरकार ने इससे 11,000 करोड़ रुपये जुटाए थे।

तीसरी किस्त 2032 में होगी मैच्योर
भारत बॉन्ड ईटीएफ के तीसरे चरण के इश्यू का मूल आकार ‘मुक्त ग्रीन शू विकल्प’ के साथ 1,000 करोड़ रुपये का होगा। ईटीएफ की तीसरी किस्त के अप्रैल 2032 में मैच्योर होने की उम्मीद है। भारत बॉन्ड ईटीएफ वित्त मंत्रालय के तहत निवेश और सार्वजनिक संपत्ति प्रबंधन विभाग (DIPAM) की एक पहल है और एडलवाइस एमएफ द्वारा प्रबंधित है।

मैच्योरिटी वाले चार भारत बॉन्ड ईटीएफ
फिलहाल, अलग-अलग मैच्योरिटी वाले चार भारत बॉन्ड ईटीएफ हैं। अप्रैल 2023, अप्रैल 2025, अप्रैल 2030 और अप्रैल 2031। भारत बॉन्ड ईटीएफ ने अपनी दूसरी किस्त में 5 और 12 साल के मैच्योरिटी विकल्प की पेशकश की, जबकि पहली किस्त में मैच्योरिटी विकल्प 3 और 10 साल के लिए थे।

विस्तार

भारत बॉन्ड ईटीएफ का तीसरा चरण आगामी तीन दिसंबर को खुलेगा और सप्ताह भर तक खुला रहेगा। इसका सब्सक्रिप्शन नौ दिसंबर को बंद होगा। भारत बॉन्ड के तीसरे चरण के जरिए सरकार की योजना 10,000 करोड़ रुपये जुटाने की है। गौरतलब है कि यह देश का पहला कॉरपोरेट बांड एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (ईटीएफ) है। भारत बॉन्ड ईटीएफ में कम से कम निवेशक 1,000 रुपये निवेश कर सकते हैं। इसके बाद 1,000 रुपये के मल्टीपल में निवेश का विकल्प मौजूद होता है।

पहली और दूसरी किस्त से जुटाए इतने करोड़
भारत बॉन्ड ईटीएफ की पहली किस्त की पेशकश दिसंबर 2019 में की गई थी इसके जरिए सरकार ने लगभग 12,400 करोड़ रुपये की राशि जुटाई थी। दूसरी किस्त को जुलाई 2020 में लॉन्च किया गया था। यह तीन गुना से ज्यादा सब्सक्राइब हुआ था। सरकार ने इससे 11,000 करोड़ रुपये जुटाए थे।

तीसरी किस्त 2032 में होगी मैच्योर
भारत बॉन्ड ईटीएफ के तीसरे चरण के इश्यू का मूल आकार ‘मुक्त ग्रीन शू विकल्प’ के साथ 1,000 करोड़ रुपये का होगा। ईटीएफ की तीसरी किस्त के अप्रैल 2032 में मैच्योर होने की उम्मीद है। भारत बॉन्ड ईटीएफ वित्त मंत्रालय के तहत निवेश और सार्वजनिक संपत्ति प्रबंधन विभाग (DIPAM) की एक पहल है और एडलवाइस एमएफ द्वारा प्रबंधित है।

मैच्योरिटी वाले चार भारत बॉन्ड ईटीएफ
फिलहाल, अलग-अलग मैच्योरिटी वाले चार भारत बॉन्ड ईटीएफ हैं। अप्रैल 2023, अप्रैल 2025, अप्रैल 2030 और अप्रैल 2031। भारत बॉन्ड ईटीएफ ने अपनी दूसरी किस्त में 5 और 12 साल के मैच्योरिटी विकल्प की पेशकश की, जबकि पहली किस्त में मैच्योरिटी विकल्प 3 और 10 साल के लिए थे।

भारत में ETF

MyQuestionIcon

Q. Consider the following statements about Bharat-22 ETF (Exchange-Traded Fund)
1. Bharat 22 is an ETF that will track the performance of 22 stocks, which the government plans to disinvest.
2. Bharat 22 will span only six sectors i.e, basic materials, energy, भारत में ETF finance, FMCG, industrials and utilities.
3. The foundation of Bharat 22 ETF was laid by the government in the Union Budget 2019
Which of the statements given above is/are correct ?

Q. भारत -22 ईटीएफ (एक्सचेंज ट्रेडेड फंड) के बारे में निम्नलिखित कथनों पर विचार करें:
1. भारत-22 एक ETF है, जो 22 शेयरों के प्रदर्शन को ट्रैक करेगा, जिसे सरकार विनिवेश करने की योजना बना रही है।
2. भारत-22 में केवल छह क्षेत्र यानी बुनियादी सामग्री, ऊर्जा, वित्त, FMCG, उद्योग और उपयोगितापूर्ण सामग्री शामिल होंगे।
3. भारत-22 ETF की नींव सरकार ने केंद्रीय बजट 2019 में रखी थी।
ऊपर दिए गए कथनों में से कौन-सा सही है / हैं?

रेटिंग: 4.18
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 534
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *