अनुभवी टिप्स

निवेशकों के लिए अवसर

निवेशकों के लिए अवसर
Edited By: India TV Business Desk
Published on: October 02, 2022 14:15 IST

अवसर निधि क्या हैं?

हिंदी

राकेश ने हाल ही में एक डीमैट खाता और ट्रेडिंग खाता खुलवाया था और अब वह शेयर बाजार में निवेश करने के बारे में जानना चाहता है I इसीलिए , वह अपने दोस्त कमल , जो कि कई साल से ट्रेडिंग से जुड़ा हुआ है, से मिलने गयाI

“ कमल , मैंने अभी-अभी निवेश शुरू करने जा रहा हूँ , और जबकि मैं शेयर बाजार में निवेश करने के बारे में थोडा – कुछ जानता हूं , फिर भी मुझे नहीं पता कि कौन से स्टॉक में निवेश करना चाहिए । क्या तुम मुझे इसके बारे में कुछ जानकारी दे सकते हो? आखिर तुम तो पिछले 5 सालों से ट्रेडिंग कर रहे हो और सच में मुझे कुछ अनुभवी सलाह का जरूरत है ,” राकेश ने अपनी बात कही I

“ बेशक, मुझे तुम्हारी मदद करके खुशी होगी ,” कमल ने राकेश के कंधे पर हाथ रखते हुए कहा I “ चूंकि तुम अभी शुरुआत ही कर रहे हो , मेरी मानो तो तुम सीधे इक्विटी शेयरों में निवेश करने से पहले म्यूचुअल फंड में निवेश करो । असल में , निवेश की शुरूआत में तुम्हारे लिए अवसर निधि सबसे बेहतर विकल्प हो सकता है ,” कमल ने कहा।

इस विकल्प के लिए उत्सुकतावश , राकेश इसके बारे में पूछने लगा। “ मुझे ये बताओ कमल , कि यह अवसर निधि क्या है, जिसके बारे में तुम बात कर रहे हो ?”

कमल बोला , “ मैं बताता हूँ। ”, “ अवसर निधि एक प्रकार का म्यूचुअल फंड है जिसमे आम तौर पर कंपनियों और उद्योगों में निवेश किया जाता है, जिससे विकास के कई अवसर मिलते हैं। म्यूचुअल फंड को फंड मैनेजर सम्भालते हैं , और यदि इन व्यावसायिकों को कुछ क्षेत्रों या कंपनियों में वृद्धि की अच्छी संभावना की नज़र आती हैं , तो वे तुम्हारे फंड को उन कंपनियों के शेयरों में निवेश करते हैं। ”

“ तो , क्या इन फंड्स में निवेश करके मुझे लाभ प्राप्त होगा? ” राकेश ने पूछा।

“ जहां तक संभावना है, होगा ही ” कमल ने आश्वस्त कियाI “ यहाँ तक कि, अवसर निधि का एकमात्र उद्देश्य तुम्हारे जैसे निवेशकों को अधिकतम लाभ पहुँचाना है। जब तक तुम्हारे पास डीमैट और ट्रेडिंग खाता है , तुम इन फंड्स में निवेश कर सकते हो ”

“ काफी बढ़िया है !” राकेश उत्साहित था हालांकि , उसे फिर किसी शंका ने घेर लिया था। “ क्या अवसर निधि किसी उद्योग या कंपनी विशेष के लिए प्रतिबंधित हैं ?” उसने कमल से पूछा।

“ नहीं , बिल्कुल नहीं। अवसर निधि के फंड मैनेजर निवेश के अवसरों के लिए पूरे वित्तीय बाजार की अच्छे से छानबीन करते हैं। संभावित अवसर की प्रकृति और लाभप्रदता के आधार पर , फंड्स को बड़े , मध्यम या छोटे स्तर की कंपनियों में निवेश किया जा सकता हैं। कुछ फंड को तो इन तीनों के मिलेजुले रूप में भी निवेश करते हैं। ”

“ ऐसा लगता है जैसे मेरे पास बहुत सारे अवसर हैं ,” राकेश ने कहा। “ लेकिन कमल, अगर हम थोड़ा और अधिक जानना चाहे तो, अवसर निधि के निवेश के लिए कौनसे उद्योग हैं? ”

कमल ने बताया , “ हरेक फंड, दूसरे फण्ड से भिन्न होता है। ” “ आम तौर पर , हालांकि , अवसर निधि के मैनेजर अधिक विकास की संभावना वाले उद्योगों और क्षेत्रों में निवेश करते हैं। यह आर्थिक , राजनैतिक और सामाजिक परिदृश्य के आधार पर बदलता रहता है। सच कहूं तो, मोटे तौर पर, फंड मैनेजर प्रौद्योगिकी , ऑटोमोबाइल , बिजली उत्पादन , तेल और गैस , बैंकिंग , दवाई और यहां तक कि इन्फ्रास्ट्रक्चर जैसे क्षेत्रों में निवेश कर सकते हैं। ”

राकेश काफी प्रभावित हुआI “ मुझे यकीन है कि इन लाभप्रद क्षेत्रों की पहचान करने में बहुत मेहनत करनी पड़ती है , है ना ?”

“ हां, बिलकुल I और चूंकि फंड मैनेजर का लक्ष्य आपके लिए अधिकतम लाभ अर्जित करना है , इसीलिए अवसरों के लिए केवल इक्विटी मार्केट में ही छानबीन नहीं होती है। साथ ही, ऋण बाजार में भी वृद्धि के कई क्षेत्र हैं , और अवसर निधि के मैनेजर इसे भी अपने उद्देश्य के लिए चुन सकते हैं। ऋण बाजार के कुछ आकर्षक अवसरों में दीर्घकालिक बॉण्ड्स , अल्पकालिक बंधन , और साथ ही सरकारी प्रतिभूतियां भी शामिल हैं। ”

राकेश को अब समझ आया कि कमल ने यह क्यों सुझाव दिया था, क्यूंकि वह खुद अवसर निधि में निवेश करता है। फिर भी , वह पूर्णत: सुनिश्चित करना चाहता था कि यह उसके लिए सही विकल्प था। इसलिए उसने पूछाI “ क्या इन फंड्स में निवेश करके मुझे अपने दीर्घकालिक वित्तीय लक्ष्यों को पूरा करने में मदद मिलेगी , कमल ?”

“ हाँ जरूर मिलेगी ! अवसर निधि निवेशकों को अपने दीर्घकालिक वित्तीय लक्ष्यों को पूरा करने में मदद के लिए ही बनाई गई हैं। वे तुम्हारे जैसे नए निवेशकों के लिए निवेश का एकदम सही अवसर हैं , जो कुछ निश्चित जोखिम उठाने के लिए तैयार है। इन फंड्स के निवेशकों के लिए अवसर निवेशकों के लिए अवसर बारे में दूसरी मुख्य बात यह है कि तुम जोखिम को कम भी कर सकते हो और अन्य निवेश विकल्पों के साथ जुड़कर लाभ बढ़ा भी सकते हैं। कमल ने आश्वस्त रूप से कहा , “ तुम्हारे एक साथ डिमैट और ट्रेडिंग खाते होने से दुनियाभर के विकल्पों सामने आते है।

“ मैं इसे नए निवेश को शुरू करने के लिए बहुत उत्साहित हूँ , कमल। क्या तुम्हारे पास कोई आखिरी सलाह है या जानकारी है जो मददगार साबित हो ?” राकेश ने अपने दोस्त से पूछा।

राकेश की अपरमपार जिज्ञासा पर ठहाका लगाते हुए कमल ने एक और उपयोगी जानकारी साझा की।

“ अधिकांश अवसर निधि , केवल 4 या 5 क्षेत्रों या उद्योगों की संपत्ति वाले पोर्टफोलियो पर केंद्रित होती है I इस पोर्टफोलियो से बेहतर परिणाम की संभावना बढ़ जाती है। हालांकि , इसमें जोखिम भी बहुत है, अवसर निधि में उच्च जोखिम – उच्च परिणाम दोनों की ही स्थिति बनी रहती है। इसलिए , अपने निवेश पोर्टफोलियो को तदनुसार व्यवस्थित करते रहना चाहिएI ”

“ सच में, सारी बातों से मुझे बहुत कुछ पता चलाI शुक्रिया कमल कि तुमने इन महत्वपूर्ण अवसरों के बारे में बताया” इतना कहकर राकेश जाने को ही था कि, कमल ने एक अंतिम राय से अपनी बात को विराम दियाI

“शेयर बाज़ार में निवेश करने के बारे जानकारी जुटाते रहना, राकेशI यहां हर रोज कुछ नया घटता हैI”

UP में रोजगार के अवसर को बढ़ाने के लिए Yogi ने बनाया मास्टर प्लान, विदेशी निवेशकों को लुभाने में करेगा मदद

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) 'इन्वेस्ट इन ब्रांड यूपी अभियान' का नेतृत्व करेंगे, जिसका मकसद दुनिया भर के उद्यमियों को राज्य में व्यापार क्षमता को भुनाने के लिए आकर्षित करना है

India TV Business Desk

Edited By: India TV Business Desk
Published on: October 02, 2022 14:15 IST

UP में रोजगार के लिए Yogi. - India TV Hindi

Photo:PTI UP में रोजगार के लिए Yogi ने बनाया मास्टर प्लान

Highlights

  • विदेशों में रोड शो का नेतृत्व करेंगे योगी
  • 10 नवंबर को न्यूयॉर्क में रोड शो
  • अंतरराष्ट्रीय रोड शो के लिए टीम में 10 लोगों के होने की संभावना

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) 'इन्वेस्ट इन ब्रांड यूपी अभियान' का नेतृत्व करेंगे, जिसका मकसद दुनिया भर के उद्यमियों को राज्य में व्यापार क्षमता को भुनाने के लिए आकर्षित करना है जो न्यू इंडिया की पटकथा और शक्ति है। सरकार की कोशिश राज्य में रोजगार के अवसर को बढ़ाना है। निवेश बढ़ने से नौकरी के मौके बढ़ेंगे और इससे बेरोजगारी दूर करने में मदद मिलेगी। योगी सरकार पहले से ही नए निवेशकों के लिए बेहतर नियम बनाने पर काम कर रही है। यूपी में पहले की तुलना में निवेश बढ़ा है। सरकार उसमें और वृद्धि करना चाहती है।

रोड शो का नेतृत्व करेंगे योगी

सरकार के प्रवक्ता के अनुसार, मुख्यमंत्री का नवंबर में यूपी ग्लोबल इन्वेस्टर समिट 2023 रोड शो का नेतृत्व करने के लिए कम से कम चार देशों की यात्रा करने का कार्यक्रम है। योगी आदित्यनाथ रूस, अमेरिका, मॉरीशस और थाईलैंड की यात्रा करेंगे। ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट से पहले रोड शो 19 देशों के 21 शहरों से नौ मार्गों से होकर गुजरेगा।

10 नवंबर को न्यूयॉर्क में रोड शो

संभावित यात्रा कार्यक्रम से संकेत मिलता है कि मुख्यमंत्री 10 नवंबर को न्यूयॉर्क में रोड शो कर सकते हैं, जबकि बैंकॉक में उनका रोड शो 16 नवंबर को प्रस्तावित है। मॉस्को और पोर्ट लुइस (मॉरीशस) के लिए प्रस्तावित तिथियां 22 और 29 नवंबर हैं।

मुख्यमंत्री के साथ मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्रा के अलावा उनके सचिवालय और इन्वेस्ट यूपी से उनके द्वारा चुने गए अधिकारियों के आने की उम्मीद है। सभी अंतरराष्ट्रीय रोड शो के लिए टीम में 10 लोगों के होने की संभावना है।

इन देशों में भी योगी करेंगे रोड शो

उद्योग और बुनियादी ढांचा विकास मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी स्वीडन, बेल्जियम और जर्मनी के देशों को कवर करेंगे और म्यूनिख (23 नवंबर) ब्रसेल्स (25 नवंबर) और स्टॉकहोम (28 नवंबर) में रोड शो करेंगे। दोनों डिप्टी सीएम (यूके, फ्रांस और नीदरलैंड) और (अमेरिका, कनाडा और ब्राजील), वित्त मंत्री (सिंगापुर और ऑस्ट्रेलिया), कपड़ा मंत्री (रूस), पर्यटन निवेशकों के लिए अवसर मंत्री (मॉरीशस और दक्षिण अफ्रीका) और कृषि मंत्री (इजराइल) में रोड शो करने वाले हैं। जिन क्षेत्रों को लक्षित किया जा रहा है उनमें इलेक्ट्रॉनिक्स, विनिर्माण, खुदरा, ऑटोमोबाइल, ईवी विनिर्माण, रक्षा, कपड़ा, कृषि और खाद्य प्रसंस्करण और परिवहन शामिल हैं।

निवेशकों के लिए पैसा लगाने का नया ऑप्शन, लंबी अवधि में मिलेगा बंपर रिटर्न

अगर आप निवेश करने की सोच रहे हैं, जिसमें आपको अच्छा रिटर्न मिले, तो अब आपके लिए एक नया विकल्प है. महिंद्रा मनुलाइफ म्युचुअल फंड ने निवेशकों के लिए स्मॉल कैप फंड लॉन्च किया है, जिसमें लंबी अवधि में बंपर रिटर्न मिलेगा.

निवेशकों के लिए पैसा लगाने का नया ऑप्शन, लंबी अवधि में मिलेगा बंपर रिटर्न

अगर आप निवेश करने की सोच रहे हैं, जिसमें आपको अच्छा रिटर्न मिले, तो अब आपके लिए एक नया विकल्प है. महिंद्रा मनुलाइफ म्युचुअल फंड ने निवेशकों के लिए स्मॉल कैप फंड लॉन्च किया है, जिसमें लंबी अवधि में बंपर रिटर्न मिलेगा. महिंद्रा मनुलाइफ म्युचुअल फंड ने स्मॉल कैप फंड लॉन्च किया है, जो एक ओपन-एंडेड इक्विटी स्कीम है और जिसका उद्देश्य मुख्य रूप से स्मॉल कैप शेयरों में निवेश करना है. कंपनी ने बयान जारी करके बताया कि इसमें एसेट एलोकेशन का न्यूनतम 65 फीसदी हिस्सा स्मॉल कैप कंपनियों के लिए होगा. यह स्कीम 21 नवंबर को खुल गई है और 5 दिसंबर को बंद होगी.

किसे करना चाहिए निवेश?

कंपनी की ओर से जारी बयान के मुताबिक, स्मॉल कैप फंड लंबी अवधि के निवेशकों के लिए एक आदर्श विकल्प होगा, जो इस बदलाव का फायदा उठाना चाहते हैं और उन्हें निवेशक पोर्टफोलियो का मुख्य हिस्सा बनना चाहिए. कंपनी ने बयान में कहा कि उनके विविध फंड रेंज में पिछले ट्रैक रिकॉर्ड को देखते हुए, उन्हें लगता है कि इस उत्पाद को बाजार में लाने का यह सही समय है. यह उनके निवेशकों को उनकी लंबी अवधि के पैसा जमा करने की आकांक्षाओं को पूरा करने में मदद करता है.

भारतीय स्मॉल कैप कंपनियों की एक बड़ी रेंज ऑफर करते हैं, जो भारतीय अर्थव्यवस्था के साथ भाग लेने और बढ़ने की संभावना रखते हैं क्योंकि भारत साइज के मामले में 7वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था से तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने की ओर आगे बढ़ रहा है.

बयान के मुताबिक, मौजूदा अर्थव्यवस्था भविष्य में मिड कैप कंपनियों के रूप में विकसित होने के लिए कई स्मॉल कैप कंपनियों के लिए अवसर देगी. एक सेगमेंट के रूप में स्मॉल कैप भी सेक्टर एलोकेशन में बड़े बड़े विकल्प देता है. वैल्यूएशन के लिहाज से स्मॉल कैप्स वर्तमान में उन निवेशकों निवेशकों के लिए अवसर के लिए एक अच्छा अवसर देते हैं, जो एक लंबी अवधि के इक्विटी पोर्टफोलियो का निर्माण करना चाहते हैं.

ये भी पढ़ें

Gold Price Today: सोना खरीदना हो गया महंगा, चांदी की कीमत भी बढ़ी

Gold Price Today: सोना खरीदना हो गया महंगा, चांदी की कीमत भी बढ़ी

जल्द घटेगा महंगाई का दबाव, रिकवरी के साथ बढ़ेंगे रोजगार के अवसर: वित्त मंत्रालय

जल्द घटेगा महंगाई का दबाव, रिकवरी के साथ बढ़ेंगे रोजगार के अवसर: वित्त मंत्रालय

इधर महंगाई कर रही बुरा हाल, उधर RBI के लिए मौद्रिक नीति बनाना हुआ दुश्वार!

इधर महंगाई कर रही बुरा हाल, उधर RBI के लिए मौद्रिक नीति बनाना हुआ दुश्वार!

अचानक ऐसा क्या हुआ कि धड़ाधड़ छंटनी करने लगीं कंपनियां… मंदी की आहट या कुछ और?

अचानक ऐसा क्या हुआ कि धड़ाधड़ छंटनी करने लगीं कंपनियां… मंदी की आहट या कुछ और?

महिंद्रा मनुलाइफ म्यूचुअल फंड के एमडी और सीईओ एंथोनी हेरेडिया ने बताया कि भारतीय अर्थव्यवस्था आने वाले दशक में दुनिया की शीर्ष अर्थव्यवस्थाओं में से एक होने के लिए अच्छी तरह से तैयार है. इसमें समय के साथ बहुत बड़ी बनने की संभावना है और यह इस्तेमाल करने वाली कई छोटी कंपनियों के साथ साथ सही सेक्टर और बिजनेस में बेहतरीन अवसर प्रदान करेगा.

निवेशकों के लिए भारत में अवसर

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा है कि वैश्विक आपूर्ति शृंखला को नए सिरे से तैयार किया जा रहा है, जिससे भारत में सभी निवेशकों तथा उद्योग के हितधारकों के लिए काफी अवसर हैं। सीतारमण ने शनिवार को उद्योग मंडल फिक्की तथा अमेरिका-भारत रणनीतिक मंच द्वारा आयोजित गोलमेज में वैश्विक उद्योग जगत के

दिग्गजों तथा निवेशकों से कहा, 'वैश्विक आपूर्ति शृंखला के पुन:नियोजन तथा भारत के स्पष्ट रुख अपनाने वाले नेतृत्व की वजह से सभी निवेशकों तथा उद्योग के हितधारकों के लिए हमारे देश में काफी अवसर हैं।'

सीतारमण वाशिंगटन डीसी की अपनी यात्रा के बाद शुक्रवार की देर रात यहां पहुंचीं। वाशिंगटन डीसी में उन्होंने विश्व बैंक और अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष की वार्षिक बैठकों में भाग लिया। उन्होंने कहा कि भारत में स्टार्ट-अप कंपनियां काफी तेजी से बढ़ी हैं और अब इनमें से कई पूंजी बाजार से धन जुटा रही हैं। इस साल ही करीब 16 स्टार्ट-अप यूनिकॉर्न क्लब में शामिल हुई हैं। यूनिकॉर्न से आशय एक अरब डॉलर से अधिक के मूल्यांकन से है। वित्त मंत्री ने कहा, 'भारत ने चुनौतीपूर्ण समय में भी डिजिटलीकरण का पूरा लाभ उठाया है।' वित्त मंत्रालय ने ट्वीट कर सीतारमण के हवाले से कहा कि वित्तीय क्षेत्र में प्रौद्योगिकी की वजह से वित्तीय समावेशन को बढ़ावा मिल रहा है। वित्तीय प्रौद्योगिकी कंपनियां इसमें महत्त्वपूर्ण भूमिका निभा रही हैं।

सीतारमण ने शनिवार को यहां मास्टरकार्ड के कार्यकारी चेयरमैन अजय बंगा और मास्टरकार्ड के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) माइकल मीबैक, फेडेक्स कॉरपोरेशन के अध्यक्ष और मुख्य परिचालन अधिकारी (सीओओ) राज सुब्रमण्यम, सिटी की सीईओ जेन फ्रेजर और आईबीएम के चेयरमैन एवं सीईओ अरविंद कृष्णा, प्रूडेंशियल फाइनेंस इंक के अंतरराष्ट्रीय कारोबार प्रमुख स्कॉट स्लीस्टर और लेगाटम के मुख्य निवेश अधिकारी फिलिप वासिलियो से भी मुलाकात की।

बंगा ने इस बैठक के बाद कहा कि भारत अपने सतत सुधारों की वजह से मजबूत राह पर है। उन्होंने कहा, मैं विशेष रूप से उत्पादन आधारित प्रोत्साहन (पीएलआई) योजना से काफी प्रभावित हूं। मीबैक ने कहा कि मास्टरकार्ड भारत में निवेश करना जारी रखेगी।

वित्त मंत्रालय ने कहा कि सुब्रमण्यम के साथ वित्त मंत्री की बैठक में हाल ही में शुरू की गई पहल राष्ट्रीय अवसंरचना मास्टर प्लान गति शक्ति और भारत के तीसरे सबसे बड़े स्टार्ट-अप पारिस्थितिकी तंत्र और तेजी से आगे बढ़ रही स्टार्ट-अप कंपनियों पर चर्चा हुई।

सुब्रमण्यम ने कहा, 'भारत में फेडएक्स का कारोबार काफी तेजी से बढ़ रहा है। भारत को लेकर हम काफी उत्साहित हैं। यह तथ्य कि हमारे पास वैश्विक हवाई नेटवर्क है, सिर्फ इस वजह से हम भारत में जरूरत होने पर कोविड-19 से संबंधित सामग्री पहुंचा सकते हैं।' फ्रेजर ने कहा कि सिटी का भारत में काफी गौरवशाली और मजबूत इतिहास रहा है। उन्होंने कहा, 'आपूर्ति शृंखला में बाधा को लेकर चिंता है, लेकिन यह स्थिति पूरी दुनिया में है।' उन्होंने कहा कि भारत ने जो डिजिटीकरण किया है वह वास्तव में प्रभावशाली है। उन्होंने कहा कि भारत डिजिटल व्यापार और डिजिटल सेवाओं का एक प्रमुख केंद्र होगा। वित्त मंत्री ने स्लीस्टर के साथ बैठक में पूंजी बांड बाजार में सुधार, निवेशक चार्टर और अन्य उपायों पर बातचीत की। लेगाटम के वासिलियो के साथ वित्त मंत्री की बैठक में मजबूत संरचनात्मक वृद्धि तथा कंपनी के भारत में निवेश पर चर्चा हुई।

रेटिंग: 4.18
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 481
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *