कितना सोना है

कितना सोना है

Sona Kitna Sona Hai Lyrics – Udit Narayan, Poornima

Sona Kitna Sona Hai lyrics & song details: Hindi Song Sona Kitna Sona Hai is sung by Udit Narayan, Poornima & the lyrics are written by Sameer and the music in this song is given by Anand-Milind. The music video of this song is featuring Govinda, Karisma Kapoor, Kader Khan, Shakti Kapoor as the lead actors.

Song TitleSona Kitna Sona Hai
SingerUdit Narayan, Poornima
LyricsSameer
MusicAnand-Milind
ActorsGovinda, Karisma Kapoor, Kader Khan, Shakti Kapoor

Music Video

Sona Kitna Sona Hai Lyrics

Sona Kitna Sona Hai
Sone Jaise Tera Mann
Sun Zara Sun Kya Kehti Hai
Deewane Dil Ki Dhadkan
Sona Kitna Sona Hai
Sone Jaise Tera Mann
Sun Zara Sun Kya Kehti Hai
Deewane Dil Ki Dhadkan
Tu Mera Tu Mera Tu Mera Tu Mera
Tu Mera Hero No.1
Tu Mera Tu Mera Tu Mera Tu Mera
Tu Mera Hero No.1

Haan Sona Kitna Sona Hai
Sone Jaise Tera Mann
Sun Zara Sun Kya Kehti Hai
Deewane Dil Ki Dhadkan
Tu Mera Tu Mera Tu Mera Tu Mera
Tu Mera Hero No.1
Tu Mera Tu Mera Tu Mera Tu Mera
Tu Mera Hero No.1

Hero Tu Mera Hero Hai
Villain Jaisa Kaam Na Kar
Sapnon Ki Is Raani Ko
Aise To Badnaam Na Kar
Hmm.. Hero Tu Mera Hero Hai
Villain Jaisa Kaam Na Kar
Sapnon Ki Is Raani Ko
Aise To Badnaam Na Kar
Deewani Yaar Kehta Hai Pyaar
Achchha Nahin Deewanapan
Tu Mera Tu Mera Tu Mera
Tu Mera Hero No.1
Tu Mera Tu Mera Tu Mera Tu Mera
Tu Mera Hero No.1

Andar Kitni Garmi Hai
Baahar Kitni Sardi Hai
Tune Bedardi Meri
Haalat Kaisi Kar Di Hai
Oof Andar Kitni Garmi Hai
Baahar Kitni Sardi Hai
Tune Bedardi Meri
Haalat Kaisi Kar Di Hai
Dil Mein Basaale Apna Banaale
Yoon Na Badha Meri Uljhan
Tu Mera Tu Mera Tu Mera Tu Mera
Tu Mera Hero No.1
Tu Mera Tu Mera Tu Mera Ha
Tu Mera Hero No.1

Sona Kitna Sona Hai
Sone Jaise Tera Mann
Sun Zara Sun Kya Kehti Hai
Deewane Dil Ki Dhadkan
Sona Kitna Sona Hai
Sone Jaise Tera Mann
Sun Zara Sun Kya Kehti Hai
Deewane Dil Ki Dhadkan
Main Tera Main Tera Main Tera Main Tera
Main Tera Hero No.1
Haan Tu Mera Tu Mera Tu Mera Tu Mera
Tu Mera Hero No.1

Lyrics in Hindi

सोना कितना सोना है
सोने जैसे तेरा मन
सुन ज़रा सुन क्या कहती है
दीवाने दिल की धड़कन
सोना कितना सोना है
सोने जैसे तेरा मन
सुन ज़रा सुन क्या कहती है
दीवाने दिल की धड़कन
तू मेरा तू मेरा तू मेरा
तू मेरा तू मेरा हीरो ने.१
तू मेरा तू मेरा तू मेरा
तू मेरा तू मेरा हीरो ने.१
हाँ सोना कितना सोना है
सोने जैसे तेरा मन
सुन ज़रा सुन क्या कहती है
दीवाने दिल की धड़कन
तू मेरा तू मेरा तू मेरा
तू मेरा तू मेरा हीरो ने.१
तू मेरा तू मेरा तू मेरा
तू मेरा तू मेरा हीरो ने.१
हीरो तू मेरा हीरो है
विलन जैसा काम न कर
सपनों की इस रानी को
ऐसे तो बदनाम न कर
हीरो तू मेरा हीरो है
विलन जैसा काम न कर
सपनों की इस रानी को
ऐसे तो बदनाम न कर
दीवानी यार कहता है
प्यार अच्छा नहीं दीवानापन
तू मेरा तू मेरा तू मेरा
तू मेरा तू मेरा हीरो ने.१
तू मेरा तू मेरा तू मेरा
तू मेरा तू मेरा हीरो ने.१
अंदर कितनी गर्मी है
बाहर कितनी सर्दी है
तूने बेदर्दी मेरी
हालत कैसी कर दी है
ऊफ अन्दर कितनी गर्मी है
बाहर कितनी सर्दी है
तूने बेदर्दी मेरी
हालत कैसी कर दी है
दिल में बसाले अपना बनाले
यूँ न बढा मेरी उलझन
तू मेरा तू मेरा तू मेरा
तू मेरा तू मेरा हीरो ने.१
तू मेरा तू कितना सोना है मेरा तू मेरा
तू मेरा तू मेरा हीरो ने.१
सोना कितना सोना है
सोने जैसे तेरा मन
सुन ज़रा सुन क्या कहती है
दीवाने दिल की धड़कन
सोना कितना सोना है
सोने जैसे तेरा मन
सुन ज़रा सुन क्या कहती है
दीवाने दिल की धड़कन
मैं तेरा मैं तेरा मैं तेरा
मैं तेरा मैं तेरा हीरो ने.१
हाँ तू मेरा तू मेरा
तू मेरा तू मेरा तू मेरा हीरो ने.१

‘सोना’ कितना ‘सोना’ है | EDITORIAL by Rakesh Dubey

कोई माने या न माने सोने [स्वर्ण] को लेकर एक बात बिल्कुल पक्की है, यह अनिश्चितता के दौर में सबसे महत्वपूर्ण निवेश है और इसकी अंतर्राष्ट्रीय स्वीकार्यता है। अनिश्चितता, तनाव, युद्ध की स्थितियों में सोने के भाव इसीलिए ऊपर जाते हैं कि तमाम निवेशक सोने की तरफ दौड़ते हैं। सदियों से इसके प्रति इस कदर आकर्षण है कि लोग इसमें रकम लगाते हैं और लगाते जाते हैं। कारण इसका ग्लोबल आकर्षण है। तमाम केंद्रीय बैंक सोने को खरीदकर अपने भंडार में रखते हैं, जिस केंद्रीय बैंक के पास सोने के जितने ज्यादा भंडार होंगे, उसकी स्थिति उतनी ही मजबूत मानी जायेगी। इस समय खासतौर पर संकट, अनिश्चितता, तनाव के चलते तो सोने के भाव आसमान छू रहे हैं।

सोने के भाव करीब 44000 रुपये प्रति दस ग्राम तक जा पहुंचे हैं। बीते एक साल में सोने के भावों में करीब २७ प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज की गयी है। इसे बहुत जबरदस्त बढ़ोतरी माना जा सकता है। इस फरवरी के अंतिम दिनों के आंकड़ों के हिसाब से मुंबई शेयर बाजार का शेयर सूचकांक सेंसेक्स एक साल में करीब ११ प्रतिशत ही ऊपर जा पाया है। यूं ११ प्रतिशत रिटर्न एक साल में कम नहीं है, पर सोने के रिटर्न तो एक साल में करीब २७ प्रतिशत रहे हैं। यह रिटर्न देखकर कई निवेशकों के मन में यह विचार उठने लगता है कि सारी रकम सिर्फ और सिर्फ सोने में लगा देनी चाहिए। सोने में निवेश को लेकर कुछ बातों को समझना जरूरी है।

ध्यान रखिये सोने की कीमतें तब आसमान की ओर बढ़ती हैं, जब अनिश्चितता का माहौल होता है। विश्व में इस समय एक भीषण अनिश्चितता का माहौल है, कोरोना वायरस की वजह से। कोरोना वायरस का प्रकोप शुरू तो चीन से हुआ है, पर अब इसकी चपेट में पूरी दुनिया आ रही है। इन कारणों से, भारतीय उद्योग जगत भी इसकी चपेट में है। भारत के कई उद्योगों का ताल्लुक चीन से है। दवा उद्योग, मोबाइल हैंडसेट उद्योग, आटोमोबाइल उद्योग। उन उद्योगों से जुड़े कच्चे माल की सप्लाई चीन से होती है। चीन में कोरोना वायरस की वजह से तबाही फैली हुई है। माल आ नहीं आ पा रहा है तो भारतीय उद्योग जगत भी संकट में है। मुंबई शेयर बाजार के सूचकांक सेंसेक्स के उतार-चढ़ाव में भी इस संकट के खौफ को देखा जा सकता है।चलन है कि अनिश्चितता और खौफ के चलते तमाम निवेशक शेयर आदि से अपनी रकम निकालकर सोने में डालना शुरू करते हैं।

प्रश्न यह है कि ऐसी सूरत में भी निवेशकों को अपनी सारी रकम सोने में नहीं लगानी चाहिए? अपने निवेश योग्य संसाधनों का एक हिस्सा ही सोने में जाना चाहिए। और अब तो सोने में निवेश के कई विकल्प मौजूद हैं यानी सोने में निवेश का मतलब अब यह नहीं कि सोना खरीदकर भौतिक सोना घर में रखा जाये। अब तो सोने के शेयर यानी सोने को शेयर के तौर पर खरीदने के विकल्प मौजूद हैं, इस शेयर के भाव सोने के भावों की तर्ज पर ऊपर-नीचे होते रहते हैं। भौतिक सोने में तो कई तरह के संकट होते हैं। भौतिक सोना लुट सकता है। पर सोने के शेयर के साथ यह दिक्कत नहीं है। वह तो इलेक्ट्रानिक तौर पर मौजूद होता है, जब आपको पैसे चाहिए, सोने के शेयर को बेचकर आप पैसे खड़े कर सकते हैं।

कुल मिलाकर सोने को लेकर एक संतुलित रुख अपनाना जरूरी है। इसमें ही सारी रकम लगा देना ठीक नहीं है और सोने को बिल्कुल उपेक्षित करके छोड़ना भी ठीक नहीं है। निवेशकों को अपने निवेश योग्य संसाधनों का एक हिस्सा सोने में या सोने से जुड़े निवेश माध्यमों में जरूर लगाना चाहिए। दीर्घकाल में सोने के रिटर्न बहुत आकर्षक भले ही ना हों, पर यह सुरक्षित निवेश का माध्यम है।

देश और मध्यप्रदेश की बड़ी खबरें MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए ( यहां क्लिक करें ) या फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

सोने को साथ लेकर यात्रा करते समय यह जानकारी अवश्य रखें

स्वर्ण की चमक सीमा पार तक जाती है, परंतु आपको इन सीमाओं को पार करते समय सावधान रहने की आवश्यकता है! पर्यटक और घूमने के शौकीनों को अक्सर प्रश्नों का सामना करना पड़ता है यदि उनके साथ सोना मौजूद हो! क्या भारी मात्रा में सोना लेकर सीमा पार करना कानूनी रुप से सही है? क्या आपको इस बारे में हवाई अड्डे के अधिकारियों को जानकारी देनी चाहिये? इन दोनो प्रश्नों का उत्तर है हां! आप बहुमूल्य धातु साथ लेकर यात्रा कर सकते हैं जिसमें सोना भी शामिल है। परंतु यदि वह किसी विशेष सीमा से अधिक है, तब आपको कस्टम्स के सामने उसे घोषित करना होगा। यहां वो सारी जानकारी दी गई है जो आपके लिये जानना आवश्यक है।


भारत में यात्रा के दौरान स्वर्ण पर कस्टम ड्यूटी

भारत में आपको सोने के आभूषणों पर कोई कस्टम ड्यूटी नही देनी होती है परंतु गोल्ड बार, बिस्किट और सिक्कों पर ड्यूटी देय है। ड्यूटी मुक्त छूट पुरुषों के लिये रु. 50000 तक और महिलाओं के लिये रु.1 लाख तक है। भारत से बाहर छ: माह या अधिक समय तक रहने वाले भारतीय अपने साथ 1 किलो सोना तक ला सकते हैं। लेकिन इसके ऊपर कस्टम ड्यूटी लागू होती है। पर्यटक फिलहाल 10% स्वण ड्यूटी देते हैम। यह उस लागू सीमा के स्वर्ण पर जारी की जाती है जिसे ग्राहक स्वयं ले जा सकते हैं।

यदि आपने अपने साथ 1 किलो से अधिक स्वर्ण रखा है, तब क्या होता ह? तब आपको एक किलो से अधिक की रकम पर 36.05 की दर से ड्यूटी देनी होती है। कस्टम के अधिकारी बिना किसी कारण के आपसे आपका स्वर्ण नही ले सकते। आपको सिर्फ इतना करना है कि कस्टम अधिकारियों के सामने सही और विस्तारित जानकारी दें। स्वर्ण को देश में और देश के बाहर लेकर जाने में कोई परेशानी नही होती है।

स्वर्ण को भारत से बाहर ले जाने संबंधी नियम

यदि आप भारत में स्वर्ण के आभूषण खरीदते हैं और उन्हे अपने साथ विदेश में लेकर जाते हैं, तब आपको उनपर कस्टम ड्यूटी नही देनी होगी। यह स्वाभाविक ही कि जो आभूषण भारत से बाहर ले जाए जा रहे हैं उनका इस्तेमाल व्यक्तिगत स्वरुप में हो रहा हो, न कि व्यावसायिक स्वरुप में। साथ ही, इसे आप अपने लगेज में नही ले जा सकते। भारत से बाहर, इस तरह से स्वर्ण ले जाने के लिये कोई मात्रा की सीमा नही है। लेकिन जब आप उसे भारत में वापस लाते हैं, तब आपको उसपर ड्यूटी देनी होती है। इस स्थिति से बचने के लिये, आप कस्टम्स से एक एक्स्पोर्ट प्रमाण पत्र ले सकते हैं। इसमें उन सभी आभूषणों की जानकारी होती है जिन्हे आप भारत से बाहर ले जा रहे हैं। इसलिये वापस आते समय उन्ही सामानों पर आपको ड्युटी देने की आवश्यकता नही होती है। भारत से बाहर जाते समय, भारत में खरीदे गए स्वर्ण आभूषणों की रसीद साथ में रखी जानी चाहिये क्योंकि इस बारे में कस्टम्स द्वारा सवाल पूछे जा सकते हैं।

भारत से स्वर्ण बाहर ले जाते समय विविध नियम लागू होते हैं। यह निर्भर करता है कि आप किस देश की यात्रा कर रहे हैं। अनचाही परिस्थितियों से बचने के लिये, आप जिस देश में जा रहे हैं, उसमें लागू नियमों के बारे में जान लें। एयरलाईन की वेबसाईट का देश की वेबसाईट पर यह जानकारी होती है कि आप उस देश में कितना सोना ले जा सकते हैं, आपको उसके लिये कौन से कानूनी दस्तावेजों की जरुरत होगी, कस्टम ड्यूटी आदि लागू होने की प्रक्रिया, साथ ही इन बहुमूल्य वस्तुओं की घोषणा संबंधी जानकारी भी मिल सकती है।

  • यूएसए की यात्रा करते समय, स्वर्ण के सिक्के, मैडल या बुलियन पर कोई ड्यूटी नही है, कितना सोना है लेकिन इन्हे कस्टम्स पर और सीमा सुरक्षा अफसर के सामने घोषित किया जाना आवश्यक है। सिक्कों का प्रतिरुप लिया जाना चाहिये और उनपर जारी करने वाले देश का चिन्ह होना चाहिये। यदि स्वर्ण के सिक्के लेन देन के व्यवहार का हिस्सा है और उनका मूल्य यूएसडी 10,000 से अधिक है, तब फिन सेन 105 फॉर्म को भरकर प्रवेश के समय कस्टम अफसर को दिया जाना चाहिये।
  • ऑस्ट्रेलिया में प्रवास करते समय, यदि सोने के आभूषण, सिक्के या बुलियन व्यक्तिगत प्रयोजन से ले जाए जाते हैं, तब आयात घोषणा की आवश्यकता नही होती है। यदि स्वर्ण के आभूषणों का मूल्य ऑस्ट्रेलियन डॉलर 1,000 से अधिक है, तब एक स्वयं आकलन क्लीयरेन्स घोषणा आवश्यक होती है। यदि इनका मूल्य इससे अधिक है, तब आयात घोषणा आवश्यक है। स्वर्ण आभूषणों के प्रयोजन की भूमिका भी महत्वपूर्ण है, विविध नियम उस स्थिति में लागू होते हैं जब उन्हे निवेश के प्रयोजन से आयात किया जाता है।

यह याद रखें कि आपको चेक इन बैग में अपने स्वर्ण को नही रखना है। अपने आभूषणों को कैरी बैग में रखिये। कई बार कस्टम अफसर आपके बैगों की तलाशी लेना चाहेंगे। उन्हे यह सब करने की आवश्यकता इसलिये होती है कि वे गैर कानूनी गतिविधियों और सुविधा के गलत उपयोग को रोक सके। इस स्थिति में आपको व्यक्तिगत कमरे के बारे में कहना चाहिये जिससे किसी अन्य व्यक्ति को यह जानकारी नही हो सके कि आपके पास सोना मौजूद है।

यदि आपके पास लागू सीमा से अधिक स्वर्ण है, तब यह सुनिश्चित करें कि उससे संबंधित दस्तावेज आपके पास मौजूद हैं। इसमें इनवॉईस या रसीद साथ होना आवश्यक है। एक औपचारिक घोषणा फॉर्म भरना भी आवश्यक है। यहां पर आपको अपनी मूल्यवान वस्तुओं व आभूषणों के संबंध में सारी जानकारी देना आवश्यक है। आप जितनी मूल्यवान वस्तुएं ले जा रहे हैं और उनकी दी गई कीमत में साम्य होना चाहिये। अन्यथा कस्टम्स को आपके इरादों पर सन्देह हो सकता है।

आप जानते हैं कि मोबाइल फ़ोन में कितना सोना छिपा होता है?

सोना बेशकीमती धातु है. भारत में सोने के कद्रदान इतने हैं कि यहां बड़े स्तर पर सोने का आयात किया जाता है. लोग गहनों के शौकीन तो होते ही हैं, बीते कुछ समय में सोना निवेश का भी एक मजबूत और लोकप्रिय जरिया बन गया है. कारण है, सोने की लगातार बढ़ती कीमतें. कुछ लोगों का मानना है कि जमीन और सोने से ज्यादा बेहतर और सुरक्षित निवेश कोई और नहीं है.

लेकिन क्या आप जानते हैं कि सोने का इस्तेमाल मोबाइल फ़ोन बनाने में भी किया जाता है. जी हां, जिस मोबाइल पर आप ये वीडियो देख रहे हैं या आर्टिकल पढ़ रहे हैं, उसमें भी सोना छिपा हुआ है. जो मोबाइल खराब हो जाते हैं और आप उन्हें फेंक देते हैं, उनमें भी सोना होता है. कोई न कोई इस सोने को निकालकर उसका इस्तेमाल जरूर करता होगा.

कहां होता है सोने का इस्तेमाल?

हालांकि, फोन में लगा सोना शुद्ध नहीं होता है. फोन के कुछ पार्ट्स में सोने की कोटिंग की जाती है. इसका कारण है कि इसकी कंडक्टिविटी सबसे ज्यादा होती है. चांदी की भी कंडक्टिविटी अच्छी होती है लेकिन चांदी नमी से प्रभावित होती है और खराब हो सकती है इसीलिए सोने का इस्तेमाल किया जाता है. मोबाइल फ़ोन के मदरबोर्ड, चिप और अन्य कई पार्ट में सोने का इस्तेमाल किया जाता है.

मात्र दो-तीन सौ रुपये का ही होता है सोना

एक सर्वे के मुताबिक, एक फोन में 0.034 ग्राम सोने का इस्तेमाल होता है, जिसकी कीमत 200 से 300 रुपये हो सकती है. तो भइया इतने सोने के लिए अपना मोबाइल फोड़ने कूंचने में मत जुट जाइएगा. हां, अगर आपके पास हजारों मोबाइल फ़ोन पड़े हों या आप कबाड़ का काम करते हों, तो रिक्स ले सकते हैं, हो सकता है आप बड़े स्तर पर सोना निकालकर करोड़पति बन ही जाएं.

Today Gold Price

नमस्कार दोस्तों स्वागत है आप सभी का आज के इस नए पोस्ट में दोस्तों आज के इस पोस्ट में हम आप सभी को बात करने वाले हैं अभी सोना का कीमत कितना चल रहा है सूत्रों से पता चला है कि सोना की कीमत में भारी गिरावट देखने को मिला है कितना गिरावट देखने को मिला है कितना दिन तक किया गिरावट रहेगा सोना कैसे खरीदे ऑफलाइन खरीदे या ऑनलाइन खरीदें तथा सोना से जुड़ी पूरी जानकारी आपको इस पोस्ट में मिलने वाला है यह पोस्ट आप सभी के लिए बहुत ही ज्यादा महत्वपूर्ण है आप सभी इस पोस्ट को पूरा अंतर जरूर पढ़ें।

दोस्तों अभी-अभी सूत्रों से पता चला है कि सोना का कीमत जो है बहुत ही कम हो चुका है जो भी सोना खरीदना चाहते हैं उसके लिए राहत भरी खबर निकल कर आ रहा है तो आपके दिमाग कितना सोना है में जरूरी प्रश्न आता होगा सोना का कीमत अभी कितना चल रहा है और सोना का कीमत अभी कितना कम हुआ है प्रति 10 ग्राम सोना का कीमत कितना है तथा अन्य कई सारे प्रश्न आपके दिमाग में चल रहा होगा तो दोस्तों आप सभी को बता दें कि इस पोस्ट में जो सभी प्रश्नों का उत्तर दिया गया है तो दोस्तों इस पोस्ट को और आगे पढ़ें।

दोस्तों पिछले 4 सालों से सोना का कीमत में बहुत ज्यादा उछाल देखने को मिला है कहने का मतलब लगातार सोना का कीमत बढ़ता चला गया लगभग 2018 में सोना का कीमत जितना था उसका दोगुना 2022 में हो चुका है तो दोस्तों इसका बहुत सारा कारण है जैसे कि पहला कारण है कि सोना का उत्पादन बहुत ही कम हो गया इसके चलते लगातार कीमत में बढ़ोतरी देखने को मिला है लेकिन अभी आप सभी के लिए राहत भरी खबर है क्योंकि अभी सिर्फ 3 से 4 दिनों ही सोना का कीमत में गिरावट आया है क्योंकि लगभग 20 नवंबर से शादी मुंडन तथा अन्य फंक्शन शुरू हो रहे हैं और इसमें लोग सोना खरीदते हैं तो सोना का कीमत बढ़ने वाला है तो दोस्तों अभी राहत बड़ खबर है आप लोग खरीद सकते हैं नीचे पूरी जानकारी बताया गया है।

दोस्तों नीचे निर्देश दिया गया है प्रति 1 ग्राम सोना का कीमत कितना है प्रति 8 ग्राम सोना का कीमत कितना है प्रति 10 ग्राम सोना का कीमत कितना है तथा अन्य सभी जानकारी नीचे दिया गया है जब भी आप लोग सोना खरीदना चाहते हैं तो ऑफलाइन ही खरीदें जिससे कि आपको आगे चलकर दिक्कत नहीं होगा ऑफलाइन वहां से खरीदे जो कि सबसे भरोसेमंद दुकान है अपने नजदीक के बाजार में जाएं और अपने रिश्तेदारों तथा अन्य लोगों से पूछे कौन सा दुकान भरोसा मंद है उस दुकान में जाकर पूरी जानकारी ले जैसे कि सोना का कागज जो देता है उसमें सब कुछ लिखा रहता है सोना के बारे में उस दुकान के बारे में तथा सभी जानकारी तो उसको पहले आप लोग पढ़ ले तब जाकर सोना को खरीदें वजन करते समय अच्छे तरीके से ध्यान दें तथा पूरी जानकारी नीचे दिया गया है।

रेटिंग: 4.81
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 729
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *